Fri. Dec 4th, 2020

SUDARSHAN TIMES

24 HOURS LIVE

देहरादून समेत 06 शहरों में तेत धमाके वाले पटाखे हुए बैन…

1 min read

राष्ट्रीय हरित अधिग्रहण (एनजीटी) के आदेश पर सरकार ने राज्य के देहरादून समेत छह शहरों में तेज धमाके के पटाखों की बिक्री पर रोक लगा दी है। इन शहरों में रात आठ से दस बजे तक सिर्फ दो घंटे ही आतिशबाजी हो सकेगी। मुख्य सचिव ओमप्रकाश ने बुधवार को यह आदेश किए। पटाखों की वजह से बढ़ते प्रदूषण को लेकर एनजीटी सख्त है।इसके मद्देनजर सभी राज्यों के मुख्य सचिवों को पटाखों के प्रदूषण पर अकुंश लगाने के लिए पुख्ता कदम उठाने को कहा है। इसी क्रम में राज्य सरकार ने यह आदेश किए हैं। मुख्य सचिव ने बताया कि एनजीटी के पांच नवंबर के आदेश में बढ़ते वायु प्रदूषण व कोविड महामारी के मद्देनजर पटाखों के बेचने व जलाने के बाबत दिशा-निर्देश दिए हैं।राज्य के दून, ऋषिकेश, हरिद्वार, हल्द्वानी, रुद्रपुर और काशीपुर के नगरीय सीमा क्षेत्रों में सिर्फ ग्रीन पटाखे ही बेचे जा सकेंगे। यानि 50 डेसिबल से ज्यादा आवाज वाले पटाखे की बिक्री पर रोक रहेगी। आमतौर पर बाजारों में 80 से 150 डेसिबल के पटाखों की बिक्री ज्यादा होती है। इनसे ध्वनि और वायु प्रदूषण दोनों ज्यादा होते हैं। इन शहरों में इनकी बिक्री पर रोक के बाद हल्के आवाज के पटाखों की बिक्री हो सकेगी। राज्य के अन्य शहरों व कस्बों में यह प्रतिबंध नहीं रहेगा। मुख्य सचिव ने चार जिलों के डीएम एवं पुलिस कप्तानों को इस पर निगरानी के आदेश दिए हैं। जो आदेश का उल्लंघन करेगा, उन पर जुर्माना का क्या प्रावधान होगा, इस आदेश में इसका कोई जिक्र नहीं किया गया है। छठ पर भी दो घंटे होगी आतिशबाजीबिहार का प्रमुख पर्व छठ पर भी लोग दो घंटे ही आतिशबाजी कर सकेंगे। उत्तराखंड के मैदानी जिलों में काफी संख्या में बिहार के लोग रहते हैं। ये सुबह छह से आठ बजे तक ही आतिशबाजी कर पाएंगे।

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.